BSEB Matric Hindi Most Important Long Subjective Question

BSEB Matric Hindi Most Important Long Subjective Question | Bihar Board Class 10th Hindi Ka Dirgh Uttariya Question Answer

Hindi

BSEB Matric Hindi Most Important Long Subjective Question :- Bihar Board के लिए Bihar Board Class 10th Hindi Ka Dirgh Uttariya Question Answer दिया गया है। जो की BSEB Mtric Hindi Long Subjective Question है। जो की  Matric Hindi Most Important Long Subjective Question Answer के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।  बिहार बोर्ड कक्षा 10वीं हिन्दी के लॉन्ग सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर | बिहार बोर्ड मैट्रिक दीर्घ उत्तरीय प्रश्न उत्तर

Join For Latest News And Tips

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Matric Exam 2023 Whatsapp Group


BSEB Matric Hindi Most Important Long Subjective Question

प्रश्न 1. धरती कब तक घूमेगी’ कहानी के शीर्षक की सार्थकता सिद्ध करें ।

अथवा, कहानी के शीर्षक की सार्थकता स्पष्ट करें।

उत्तर ⇒  इस कहानी का शीर्षक ‘धरती कब तक घूमेगी’ घटना प्रधान है। सीता अपने बेटों और उनसे अधिक बहुओं का विष सहते-सहते परेशान हो जाती है उसे अपना पूर्व का जीवन स्मरण हो आता है। उसने आकाश की ओर दृष्टि उठाकर देखी और फिर पृथ्वी की ओर देखकर महसूस किया कि पृथ्वी और आकाश के बीच घुटन भरी हुई है ।

Join For Latest News And Tips

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दो रोटियाँ ही सबकुछ नहीं, इनके अलावे भी तो कुछ है और वही अलावे वाली इच्छाएँ ही तो दुख भोगने को बाध्य करती हैं।

सीता को आशा है कि धरती घूमेगी, पर कब तक घूमेगी ? अतः यह शीर्षक सार्थक है।


प्रश्न 2. सीता का चरित्र चित्रण करें।

उत्तर ⇒  सीता एक विधवा पर सहिष्णु महिला थी। वह बहुओं की विषाक्त बातों का कभी उत्तर नहीं देती। वह अपने हृदय को पत्थर कर अपने ही घर में विराना बनकर रह रही थी। बेटों ने उसे एक-एक महीने पाली पर रखा तो वह कुछ नहीं बोली पर जब उसे 50 रु० प्रतिमाह देने की बात बेटों ने बिना उससे राय लिए ही तय कर ली तो उसका स्वाभिमान जगा और वह घर से निकल पड़ी।

इस प्रकार सीता सुख-दुःख में समरस रहनेवाली, शान्त प्रकृति की स्वाभिमानिनी और दृढ़ निश्चय प्रकृति की महिला है।


प्रश्न 3. “इस समय उसकी आँखों के आगे न तो अँधेरा था और न ही उसे धरती और आकाश के बीच घुटन हुई।’ सप्रसंग व्याख्या करें। 

उत्तर ⇒  प्रस्तुत पंक्तियाँ सिद्धहस्त कथाकार साँवर दइया की लेखनी से स्यूत ‘धरती कबतक घूमेगी’ कहानी से उद्धृत हैं

बेटे और बहुओं के विषाक्त वातावरण में रहते सीता प्रायः अर्द्धविक्षुब्ध हो चुकी थी। उसे धरती और आकाश संकुचित दीख पड़ थे क्योंकि मन का भाव ही मनुष्य बाह्य प्रकृति में देखता है। घर के घुटन ने उसे मानसिक अस्वस्थ बना दिया था।

महीने – महीने पाली बदलकर तो उसने पाँच वर्षों की लम्बी अवधि काट दी पर 50 रु० प्रतिव्यक्ति प्रतिमाह देने की बात से वह तिलमिला उठी और कठोर निर्णय लेते हुए अपने कुछ फटे-पुराने कपड़े लेकर उस घुटन भरे घर से तड़के निकल पड़ी। इस समय मन शान्त और हृदय उद्वेग रहित था। उसकी आँखों के आगे अभी न तो अँधेरा था और न धरती आकाश के बीच घुटन । उसका मन जैसे शांत और निर्मल हो गया प्रकृति भी वैसी ही दीख रही थी।


Bihar Board Class 10th Hindi Ka Dirgh Uttariya Question Answer

Class 10th Hndi वर्णिका भाग 2 Important Questions
Chapter Name Objective QueSubjective QueLong Subjective
1. दही वाली मंगम्माClick HereClick HereClick Here
2. ढहते विश्वासClick HereClick HereClick Here
3. माँClick HereClick HereClick Here
4. नगरClick HereClick HereClick Here
5. धरती कब तक घूमेगीClick HereClick HereClick Here
S.NMatric Exam 2023 Objective Question
1.Hindi  – गोधूलि भाग 2
2.Hindi – हिंदी व्याकरण
3.SCIENCE – विज्ञान
4.SOCIAL SCIENCE – सामाजिक विज्ञान
5.SANSKRIT – संस्कृत
6.MTHEMATICS – गणित
7.ENGLISH – इंग्लिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *