Bihar Board Class 10th Social Science Dirgh Uttariya Prashn

Bihar Board Class 10th Social Science Dirgh Uttariya Prashn 2024 | Matric SST Subjective Question Answer 2024

Social Science

Bihar Board Class 10th Social Science Dirgh Uttariya Prashn 2024 :- दोस्तों यहां पर बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा 2024 ( Bihar Board Matric Exam 2024 ) के लिए सामाजिक विज्ञान (भूगोल) का सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर दिया गया है यदि आप लोग मैट्रिक परीक्षा 2024 की तैयारी कर रहे हैं तो कक्षा 10 खनिज एवं ऊर्जा संसाधन का दीर्घ उत्तरीय प्रश्न( class 10th khanij evam urja sansadhan dirgh uttariy prashn ) यहां पर किया गया है जो कि आने वाले परीक्षा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है साथ ही इस वेबसाइट पर सभी सब्जेक्ट का ऑब्जेक्टिव एंड सब्जेक्टिव प्रश्न( Bihar Board Class 10th All Subjective Ka Objective And Subjective Question 2024 ) दिया गया है जिससे आप 2024 में बेहतर तैयारी कर सकते हैं

Join For Latest News And Tips

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Matric Exam 2024 Whatsapp Group


Bihar Board Class 10th Social Science Dirgh Uttariya Prashn 2024

प्रश्न 1. बिहार में पाए जानेवाले खनिजों को वर्गीकृत कर किसी एक वर्ग के खनिज का वितरण एवं उपयोगिता को लिखिए।

उत्तर ⇒ बिहार के खनिजों को निम्नलिखित वर्गों में रखा जा सकता है—

(i) धात्विक खनिज इसके अंतर्गत बॉक्साइट, मैग्नेटाइट और सोना अयस्क आते हैं।

Join For Latest News And Tips

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

(ii) अधात्विक खनिज चूना पत्थर, अभ्रक, डोलोमाइट, सिलिका सैंड, पाइराइट क्वार्टन, फेल्सपार, चीनी मिट्टी, स्लेट एवं शोरा जैसे अधात्विक खनिज मिलते हैं

धात्विक खनिज— बॉक्साइट का भंडार बिहार में 1.5 हजार मैट्रीक टन है । यह गया, जमुई और बाँका जिलों में मिलता है। इसका उपयोग बिजली के तार, बर्तन, हवाई जहाज, बस, रेलवे कोच बनाने में होता है। बॉक्साइट से ऐलुमिनियम बनाया जाता है। मैग्नेटाइट पत्थर का कुल भंडार 0.59 हजार मैट्रीक टन है। यह बिहारी पहाड़ी क्षेत्र में मिलता है

सोना अयस्क यहाँ बहुत अल्प मात्र में दक्षिणी बिहार के नदियों (फाल्गू) के बालू के रेत के साथ मिलता है जिसमें सोना धातु की मात्रा 0.1 से 0.6 ग्राम प्रतिटन प्राप्त है। सोना अयस्क का कुल भंडार 128.88 मैट्रीक टन है। सोना का उपयोग ज्वेलर बनाने, दवा बनाने तथा दाँत बनाने में किया जाता है।


Matric SST Subjective Question Answer 2024

प्रश्न 2. बिहार के प्रमुख ऊर्जा क्षेत्रों का वर्णन कीजिए और किसी एक क्षेत्र का विस्तार से चर्चा कीजिए।

उत्तर ⇒ बिहार के प्रमुख ऊर्जा स्रोतों में मुख्य रूप से जल विद्युत एवं ताप विद्युत है । बिहार में कई तापीय विद्युत केन्द्र है। इनमें कहलगाँव, कांटी और बरौनी तापीय विद्युत केन्द्र प्रमुख हैं, कहलगाँव सुपर थर्मल पावर की उत्पादन क्षमता 840 मेगावाट है। कांटी तापीय विद्युत केन्द्र मुजफ्फरपुर है जिसकी उत्पादन क्षमता 120 मेगावाट है और बरौनी तापीय विद्युत परियोजना की स्थापना रूस के सहयोग से किया जाता है। इसकी उत्पादन क्षमता 145 मेगावाट है। इसके अलावे बाढ़ एवं नबीनगर तापीय विद्युत परियोजना है। बाढ़ तापीय विद्युत परियोजना की प्रस्तावित तापीय विद्युत उत्पादन क्षमता 200 मेगावाट है इस परियोजना का निर्माण N.T.P. C. के द्वारा हो रहा है।

नवीनगर तापीय विद्युत परियोजना औरंगाबाद जिला में है। जिसकी उत्पादन क्षमता 1000 मेगावाट प्रस्तावित है। ये रेलवे एवं N.T.P.C. के संयुक्त प्रयास से निर्माण चल रहा है। जल स्रोत जलविद्युत इसके विकास के लिए 1982 में बिहार राज्य जल विद्युत निगम का गठन किया गया, इसके द्वारा 2055 मेगावाट उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है।

डेहरी, रोहतास में स्थित पश्चिमी स्रोत परियोजना, वारुण, औरंगाबाद, पूर्वी स्रोत लिंकनहर बाल्मिकी नगर, पश्चिमी चम्पारण, कटैया परियोजना है। इनसे मात्र 44-10 मेगावाट जलविद्युत उत्पन्न होता है ।


  Chapter NameSub Ques
5. (क) खनिज एवं ऊर्जा संसाधनClick Here
5. (ख) बिहार : उद्योग एवं परिवहनClick Here
5. ( ग ) बिहार : जनसंख्या एवं नगरीकरणClick Here
Geography Important Question   
Chapter Name Objective Que Subjective Que Long Subjective
1. भारत : संसाधन एवं उपयोगClick HereClick HereClick Here
2. कृषिClick HereClick HereClick Here
3. निर्माण उद्योग Click HereClick HereClick Here
4. परिवहन , संचार एवं व्यापारClick HereClick HereClick Here
5. बिहार : कृषि एवं वन संसाधन Click HereClick HereClick Here
6. मानचित्र अध्ययनClick HereClick HereClick Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *